क्या बताएं ग़ालिब अपनी नौकरी, ज़िन्दगी का आलम-ए-बेबसी ……..कि अब तो दीवाली भी रूठ कर Sunday को जा पहुंची

क्या बताएं ग़ालिब अपनी नौकरी, ज़िन्दगी का आलम-ए-बेबसी ……..कि अब तो दीवाली भी रूठ कर Sunday को जा पहुंची

खुशियाँ हों overflow, मस्ती कभी न हों low, दोस्ती का सरुर छाया रहे, ऐसा आये आपके लिए दिवाली का त्यौहार।

मिट्टी की भी कीमत बढ़ जाती है पटाखों के धुएँ में दुनिया गाँव की चूल्हे वाली रसोई नज़र आती है ..

दिवाली के बाद की सुबह उनके लिये बड़ी खुशियाँ लेकर आती है… कुछ पटाखे तुम बिना जले ही फेँक दिया करो यारो..

आज दीपावली मनाने से पहले देश के उन वीरों को भी याद करें जो दिन-रात हमारे चैन-सुख के लिये सीमा पर निगरानी रखते हैं.

कह दो अंधेरों से कहीं और घर बना लें मेरे मुल्क में रौशनी का सैलाब आया है.

लक्ष्मी आयेगी इतनी कि सब जगह नाम होगा, दिन रात व्यापार बढ़े इतना अधिक काम होगा, घर परिवार समाज में बनोगे सरताज़, यही कामना है हमारी आपके लिये, दिवाली की ढेरों शुभकामनायें।

दीप जलते जगमगाते रहें, हम आपको आप हमें याद आते रहें, जब तक जिंदगी है दुआ है हमारी, आप चांद की तरह जगमगाते रहें … शुभ दिवाली

सफलता कदम चूमती रहे, खुशी आसपास घूमती रहे, यश इतना फैले कि कस्तूरी शरमा जाये, लक्ष्मी की कृपा इतनी हो कि बालाजी भी देखते रह जायें शुभ दिवाली

गुल ने गुलशन से गुलफाम भेजा है, सितारों ने गगन से सलाम भेजा है, मुबारक हो आपको यह दीवाली, हमने तहे दिल से यह पैगाम भेजा है।

आज से आपके यहां धन की बरसात हो, मां लक्ष्मी का वास हो, संकटों का नाश हो, हर दिल पर आपका राज हो, उन्नती का सर पे ताज हो, घर में शांती का वास हो, *शुभ दीवाली*